टाल्कम पाऊडर सुरक्षा के बारे में तथ्य

तथ्य
टाल्कम पाऊडर सुरक्षा पर


टाल्कम पाऊडर क्या है?

टाल्कम पाऊडर पृथ्वी पर सबसे कोमल खनिज का परिष्कृत, ख़स्ता रूप है: टाल्क टाल्क एक "अक्रिय" घटक है, जिसका अर्थ है कि जब यह निगला जाता है या त्वचा पर इस्तेमाल किया जाता है तो यह एक रासायनिक प्रतिक्रिया उत्पन्न नहीं करता है। प्राचीन मिस्र के समय से लोगों ने इसकी प्राकृतिक चिकनाई, सुरक्षा और अवशेषी का लाभ उठाया है।1

टाल्कम पाऊडर

हमारा टाल्क कहाँ से आता है?

टाल्क पूरे ग्रह में शिलाओं की तलछट में पाया जाता है और कई अन्य खनिजों की तरह इसका खनन किया जाता है। हमारे बेबी पाऊडर में केवल औषधीय श्रेणी टाल्क का उपयोग किया जाता है।

टाल्कम पाऊडर कैसे बनाया जाता है?

एक बार जब इसे पृथ्वी से लिया जाता है, तो टाल्क को आंशिक रूप से कुचल दिया जाता है, छाँटा जाता है और एक श्रेणी बद्ध किया जाता है। वह टाल्क अयस्क जो हमारे मानकों पर खरा उतरता है, फिर उसे कण आकार के लिए एक पाऊडर में पीसा जाता है, परिक्षण किया जाता है और Johnson & Johnson की शुद्धता आवश्यकताओं को पूरा करने की पुष्टि की जाती है।

टाल्क सुरक्षित है

टाल्क सुरक्षा कदम1

1टाल्क का उपयोग सदियों से किया जाता रहा है।

यह पृथ्वी पर सबसे कोमल खनिज है, और इसका उपयोग विभिन्न प्रकार के अनुप्रयोगों के लिए किया गया है जो प्राचीन मिस्र के काल तक जाता है।2

टाल्क सुरक्षा कदम2

2टाल्क आप जितना सोचते हैं उससे अधिक सामान्य है।

यह हमारे द्वारा खाए जाने वाले खाद्य पदार्थों में है, जिसमें च्युइंग गम, चावल और ओलिव ऑइल, और कई उत्पाद हैं जिनका हम हर दिन उपयोग करते हैं (जैसे मेकअप, साबुन और प्रतिस्वेदक।)1,2,3

टाल्क सुरक्षा कदम3

3टाल्क सुरक्षित है।

अनुसंधान, clinical (क्लिनिकल) प्रमाण और दुनिया भर के स्वतंत्र चिकित्सा विशेषज्ञों द्वारा लगभग 40 वर्षों के अध्ययन टाल्क की सुरक्षा का समर्थन करना जारी रखते हैं।

टाल्क सुरक्षा कदम4

4दुनिया भर में स्वतंत्र अधिकारियों द्वारा टाल्क का अध्ययन किया गया है।

अमेरिकी खाद्य और औषधि प्रशासन और कॉस्मेटिक घटक समीक्षा विशेषज्ञ पैनल जैसे सरकारी और गैर-सरकारी एजेंसियों ने टाल्क की संभावित हानिकारकता की जांच की है और निर्धारित किया है कि टाल्क सुरक्षित है।

टाल्क सुरक्षा कदम5

5टाल्क कैंसर का कारण नहीं है।

नेशनल कैंसर इंस्टीट्यूट के फिजिशियन डेटा क्वेरी एडिटोरियल बोर्ड ने निष्कर्ष निकाला है कि साक्ष्य का वजन विटप टाल्क संपर्क और अंडाशयी कैंसर के जोखिम के बीच संबंध का समर्थन नहीं करता है।

दशकों की सुरक्षा

हम अपने उत्पादों में टाल्क का उपयोग करना जारी रखते हैं क्योंकि दशकों के विज्ञान ने इसकी सुरक्षा की पुष्टि की है। Johnson’s Baby Products में आपका विश्वास और हर दिन उनका उपयोग करने का आपका विश्वास एक बहुत बड़ी जिम्मेदारी है – यही कारण है कि हम केवल उन घटकों का उपयोग करते हैं जिन्हें नवीनतम विज्ञान द्वारा उपयोग करने के लिए सुरक्षित माना जाता है।

अनुसंधान, clinical (क्लिनिकल) प्रमाण और दुनिया भर के चिकित्सा विशेषज्ञों द्वारा लगभग 40 वर्षों के अध्ययन cosmetic talc (कॉस्मेटिक टाल्क) की सुरक्षा का समर्थन करना जारी रखते हैं। दुनिया भर के स्वास्थ्य प्राधिकारियों ने टाल्क के डेटा की समीक्षा की है, और इसका दुनिया भर में व्यापक रूप से उपयोग किया जाता है।

उपभोक्ता उत्पादों में टाल्क के सुरक्षित उपयोग के लंबे इतिहास के बाद भी, कुछ लोगों ने सवाल किया है कि क्या टाल्कम पाऊडर का उपयोग करने से किसी व्यक्ति को कैंसर होने का खतरा बढ़ सकता है। हाल ही में, इस बात पर सवाल उठाए गए हैं कि क्या उपभोक्ता उत्पादों में इस्तेमाल होने वाली टाल्क एस्बेस्टस से दूषित है। विज्ञान का वजन ऐसे किसी भी दावे का समर्थन नहीं करता है कि हमारे टाल्क उत्पादों से कैंसर होता है।

हम अपने उत्पाद की सुरक्षा के बारे में किसी भी प्रश्न को गंभीरता से लेते हैं और इसके परिणामस्वरूप टाल्क के साक्ष्य में गहराई से खोक की है।

हजारों परिक्षण बार-बार पुष्टि करते हैं कि हमारे उपभोक्ता टाल्क उत्पादों में एस्बेस्टस नहीं है। हमारा टाल्क ऐसे अयस्क स्रोतों से आता है जो हमारे कड़े विनिर्देशों को पूरा करने की पुष्टि करते हैं। न केवल हम और हमारे आपूर्तिकर्ता हमारे टाल्क का नियमित रूप से परिक्षण करते हैं यह सुनिश्चित करने के लिए की एसमें एस्बेस्टस शामिल नहीं है, हमारे टाल्क का स्वतंत्र प्रयोगशालाओं और विश्वविद्यालयों की एक श्रृंखला जिसमें FDA (एफडीए, खाद्य एवं औषधि प्रशासन), Harvard School of Public Health (हार्वर्ड स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ) और Mount Sinai Hospital (माउंट सिनाई होस्पिटल) का समावेश है, द्वारा परिक्षण भी किया गया है और एस्बेस्टस मुक्त होने की पुष्टि की गई है।

Johnson मुकदमा

आपने शायद मुकदमों के बारे में समाचारों को पढ़ा होगा जिसमें दावा किया गया है कि Johnson’s Baby Powder से अंडाशयी कैंसर या मेसोथिलियोमा हो सकता है।

Johnson केवल शुद्ध, औषधीय श्रेणी टाल्क का उपयोग करता है। यह सुनिश्चित करने के लिए हम हर खेप का परिक्षण करते हैं। लेकिन इसके लिए आप हमारा शब्द न लें। तथ्यों का अन्वेषण करें और अपना स्वयं का मन बनाएं।

अधिक जानिए

विज्ञान का अन्वेषण कीजिए

टाल्क और अंडाशयी कैंसर पर अध्ययन

The Nurses’ Health Study (नर्सिस हेल्थ स्टडी)

The Nurses’ Health Study (नर्सिस हेल्थ स्टडी) (NHS) अब तक का सबसे बड़ा महिलाओं का स्वास्थ्य अध्ययन है। इस अमेरिकी सरकार द्वारा वित्त पोषित कॉहोर्ट अध्ययन ने 1976से महिलाओं में प्रमुख दीर्घकालीन रोग के जोखिम कारकों का पता लगया है। कई अन्य सफलताओं में, NHS (नर्सिस हेल्थ स्टडी) के खोज से महिलाओं में धूम्रपान और हृदय रोगों के बीच की कड़ी को उजागर करने में मदद मिली और इससे स्तन कैंसर के उपचार के लिए हार्मोनल चिकित्सा का विकास हुआ।

NHS (नर्सिस हेल्थ स्टडी) के टाल्क-उपयोग भाग में 78,630 महिलाएं शामिल थीं जिन्हें कुल 24 वर्षों के लंबे समय तक जाँचा गया था।4,5 उनसे पूछा गया कि क्या उन्होंने कभी अपने जननांग क्षेत्र पर या सैनिटरी नैपकिन पर टाल्कम पाऊडर का इस्तेमाल किया था। लगभग 40 प्रतिशत महिलाओं ने हां में जवाब दिया और टाल्क-उपयोगकर्ता समूह में शामिल थीं।4,5

अध्ययन डेटा ने टाल्क उपयोगकर्ताओं के बीच अंडाशयी कैंसर की समग्र दर में कोई वृद्धि नहीं दिखाई, चाहे वे कितनी बार टाल्क का उपयोग करते हों। उन महिलाओं में अंडाशयी कैंसर के दर में कोई अंतर नहीं था जो पाऊडर का उपयोग सीधे अपने शरीर पर या सैनिटरी उत्पादों पर करती थी।4,5

24 वर्ष अध्ययन
78,630 महिलाओं का
31,789 ने टाल्क इस्तेमाल किया

अंडाशयी कैंसर के जोखिम में
कोई समग्र वृद्धि

नहीं देखी गयी

The Nurses Health Study (नर्सिस हेल्थ स्टडी)

The Women’s Health Initiative Study (वुमन्स हेल्थ इनिशिएटिव) अध्ययन

Women's Health Initiative (WHI, वुमन्स हेल्थ इनिशिएटिव) की स्थापना अमेरिका के National Institutes of Health (राष्ट्रीय स्वास्थ्य संस्थान) ने 1991 में रजोनिवृत्त महिलाओं के स्वास्थ्य का अध्ययन करने के लिए की थी। इस कोहोर्ट अध्ययन में कई मामलों की जांच की गई जिसमें हार्मोन चिकित्सा और स्तन कैंसर, और कैंसर और हृदय रोग पर आहार के प्रभाव की कड़ी भी शामिल थी। WHI (वुमन्स हेल्थ इनिशिएटिव) के टाल्क-उपयोग वाले हिस्से में 61,576 महिलाएं शामिल थीं, जिनमें से 53 प्रतिशत ने कहा कि उन्होंने अपने जननांगों, सैनिटरी नैपकिन या डायाफ्राम पर पाऊडर का उपयोग किया है, कुछ ने 20 वर्षों से अधिक। इस अध्ययन में शामिल महिलाओं की जाँच 1993 और 2012के बीच की गयी थी।

अध्ययन डेटा ने बताया कि उन महिलाओं में अंडाशयी कैंसर का कोई अधिक खतरा नहीं है जो टाल्कम पाऊडर का इस्तेमाल करती हैं। उन महिलाओं में भी जोखिम में कोई वृद्धि नहीं हुई थी जो अधिक समय तक पाऊडर का इस्तेमाल कर रही थीं।6

12 वर्ष अध्ययन
61,576 महिलाओं का
32,219 ने टाल्क इस्तेमाल किया

अंडाशयी कैंसर के जोखिम में
कोई समग्र वृद्धि

नहीं देखी गयी

The Women's Health Initiative (वुमन्स हेल्थ इनिशिएटिव) अध्ययन

The Sister Study

Sister Study ने 2003-2009 तक National Institutes of Health (नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ), National Institute of Environmental Health Sciences (नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ एनवायर्नमेंटल हेल्थ साइंसेज) के सहयोग से स्तन कैंसर के कारणों का पता लगाने के लिए एक उल्लेखनीय शोध प्रयास था। अध्ययन में प्रतिभागियों के बीच टाल्क उपयोग, खंगालना और अंडाशयी कैंसर के बीच संघों की जांच के लिए एक विश्लेषण भी शामिल था।

अध्ययन ने संयुक्त राज्य अमेरिका और प्यूर्टो रिको में 35 से 74 वर्ष की उम्र की 41,654 महिलाओं का दाखिला लिया, जिनकी सगी या सौतेली बहन थी, जिन्हें स्तन कैंसर का निदान किया गया था और उनसे पिछले 12 महीनों में टाल्क के उपयोग के बारे में पूछा गया था। अध्ययन के दौरान, विटप टाल्क उपयोग और उसके पश्चात अंडाशयी कैंसर के निदान के बीच कोई संबंध नहीं पाया गया।7 जबकि Sister Study के दौरान यह पाया गया कि उपयोगकर्ताओं के बीच खंगालना अधिक सामान्य था, खंगालना, लेकिन टाल्क नहीं, अंडाशयी कैंसर के बढ़ते जोखिम से जुड़ा था।7

6 वर्ष अध्ययन
41,654 महिलाओं का
5,735 ने टाल्क इस्तेमाल किया

अंडाशयी कैंसर के जोखिम में
कोई समग्र वृद्धि

नहीं देखी गयी

The Sister Study

अन्य अध्ययन

बड़े, भावी अध्ययनों में अंडाशयी कैंसर और पाऊडर उपयोगकर्ताओं के बीच एक सांख्यिकीय संबंध नहीं पाया जाता है, हालांकि कुछ, लेकिन सभी नहीं, नियंत्रण अध्ययन मामूली सांख्यिकीय संबंध का संकेत देते हैं। नियंत्रण अध्ययन ऐसे अध्ययन हैं जहां विशिष्ट रोग के इतिहास वाले लोगों के समूह से विभिन्न संभावित जोखिम कारकों के बारे में सवाल पूछे जाते हैं। इन जोखिम कारकों में उनके अतीत के कुछ उत्पादों का उपयोग शामिल हो सकता है। एक संभावित कारण यह है कि कुछ को मामूली सांख्यिकीय संबंधों का पता चला है, "रिकॉल बाअस" के कारण सच्चे संबंध के अधिमूल्यन की संभावना है। रिकॉल बाअस याने जब किसी रोग से ग्रासित लोग उस रोग से मुक्त लोगों के मुकाबले इन जोखिम कारकों से अपना संपर्क अधिक होने का अधिमूल्यन करने की ज्यादा संभावना रखते हैं। इन अध्ययनों में, जिन महिलाओं को पता है कि उनको अंडाशयी कैंसर है, वे किसी भी चीज को याद रखने के लिए कड़ी मेहनत करेंगी, जो यह समझाने में महत्वपूर्ण हो सकता है कि उन्हें यह भयानक रोग क्यों हुआ, जो कृत्रिम रूप से यह प्रकट कर सकता है कि कैंसर से पीड़ित महिलाएं अधिक टाल्कम पाऊडर का इस्तेमाल करती हैं।8

टाल्क और मेसोथिलियोमा के अध्ययन

मेसोथिलियोमा कैंसर का एक दुर्लभ रूप है, जिसके कई प्रकार हैं। एस्बेस्टस संपर्क को कुछ प्रकार के मेसोथिलियोमा से जोड़ा गया है। एस्बेस्टस एक प्राकृतिक रूप से पाया जाने वाला खनिज है जो पर्यावरण में पाया जाता है, और इसके तन्तु की थोड़ी मात्रा हमारे चारों ओर होती है – जो हवा में हम सांस लेते हैं, पीने के पानी में, मिट्टी और कुछ खाद्य पदार्थों में।

कोई भी सारभूत वैज्ञानिक अध्ययन नहीं है जो दर्शाता है कि cosmetic talc (कॉस्मेटिक टाल्क) के प्रश्वास के कारण मेसोथिलियोमा होता है।

खनिकों और मिल-मजदूरों का अध्ययन

उन हजारों लोगों का अध्ययन, जो दैनिक स्तर पर टाल्क के संपर्क में थे—अपने टाल्क पाऊडर के खनन और पिसाई कार्य के माध्यम से, दिखाते हैं कि किसी में भी मेसोथिलियोमा का विकास नहीं हुआ। 1976 में वैज्ञानिकों ने Johnson & Johnson द्वारा उपयोग की जाने वाली एक इतालवी cosmetic talc (कॉस्मेटिक टाल्क) खदान के खनिकों और मिल-मजदूरों का अध्ययन शुरू किया। इस अध्ययन ने उन श्रमिकों की तुलना जो 1921 से 1950 के बीच कार्यरत थे, इटली के एक नजदीकी शहर अल्बा की जनसंख्या से की गयी। उस अध्ययन में मेसोथिलियोमा के शून्य मामले पाए गए।

1979 में वैज्ञानिकों ने नए सांख्यिकीय डेटा का उपयोग करके अध्ययन का अद्यतन किया, और जो खनिक और मिल-मजदूर 1946 से 1974 कार्यरत थे, उनकी तुलना राष्ट्रीय इतालवी जनसंख्या डेटा के साथ की। फिर भी, शून्य खनिक और मिल-मजदूरों में मेसोथिलियोमा विकसित हुआ था। यह अध्ययन का2003 में फिर अद्यतन किया गया, और दुबारा 2017 में, और यह प्रदर्शित करता रहा है कि किसी भी खनिक या मिल-मजदूर में मेसोथिलियोमा विकसित नहीं हुआ है।

अन्य cosmetic talc (कॉस्मेटिक टाल्क) खनन कार्यों पर खनिकों और मिल-मजदूरों के इस प्रकार के अध्ययन किए गए हैं। NIOSH और OSHA द्वारा संचालित वर्मोंट खनिक और मिल-मजदूरों के एक अध्ययन ने निष्कर्ष निकाला कि कोई भी खनिक और मिल-मजदूर को मेसोथिलियोमा विकसित नहीं हुआ है। नॉर्वे, ऑस्ट्रिया और फ्रांस में cosmetic talc (कॉस्मेटिक टाल्क) तलछट में काम करने वाले खनिकों और मिल-मजदूरों के अध्ययन से भी यह पता चलता है कि उन टाल्क श्रमिकों में से किसी में भी मेसोथिलियोमा विकसित नहीं हुआ है।

1,992 खनिक
और मिल-मजदूर

रोजाना टाल्क के संपर्क में
38  वर्षों से ज्यादा अध्ययन

0 मामले पाए गए
मेसोथिलियोमा के

खनिकों और मिल-मजदूरों का अध्ययन

फेफड़ों में
द्रव संचय कम करने के लिए टाल्क का उपयोग किया जाता है

प्लुरोडेसिस (एक प्रकार की वक्ष शल्य चिकित्सा) नामक एक चिकित्सा प्रक्रिया फेफड़ों को छाती की दीवार से चिपके रहने में मदद करती है ताकि ध्वस्त फेफड़ों को फुलाया जा सके या फेफड़ों के आसपास द्रव पदार्थ जमा होने से रोका जा सके।

कुछ मामलों में, द्रव संचय को रोकने के लिए टाल्क को सीधे फेफड़ों के अस्तर में इंजेक्शन से डाला जाता है। रोगियों की बड़े पैमाने पर रिपोर्ट बताती है कि सैकड़ों रोगियों में से, जिन्होंने इस प्रक्रिया को दर्जनों वर्षों में किया था, मेसोथिलियोमा के मामले नहीं हुए हैं।


 300  से ज्यादा रोगियों
का अध्ययन
14-40  वर्षो के लिए

0 मामले पाए गए
मेसोथिलियोमा के

संदर्भ

  1. Industrial Minerals Association "टाल्क क्या है?"
    http://www.ima-na.org/?page=what_is_talc
  2. EARTH पत्रिका। महीने का खनिज संसाधन।
    http://www.earthmagazine.org/article/mineral-resource-month-talc
  3. Geology.com. टाल्क : सबसे मुलायम खनिज।
    http://geology.com/minerals/talc.shtml
  4. Gertig, Prospective Study of Talc Use and Ovarian Cancer, Journal of the National Cancer Institute, Nurses Health Study.
    http://jnci.oxfordjournals.org/content/92/3/249.full
  5. Gates, Risk Factors for Epithelial Ovarian Cancer by Histologic Subtype, American Journal of Epidemiology.
    http://aje.oxfordjournals.org/content/171/1/45.full
  6. Houghton, Perineal Powder Use and Risk of Ovarian Cancer, Journal of the National Cancer Institute, Women’s Health Initiative.
    http://jnci.oxfordjournals.org/content/106/9/dju208.full
  7. Gonzalez, Douching, Talc Use and Risk of Ovarian Cancer, Epidemiology.
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pubmed/27327020
  8. Cancer.org. टाल्कम पाऊडर और कैंसर
    http://www.cancer.org/cancer/cancercauses/othercarcinogens/athome/talcum-powder-and-cancer
शीर्ष पर वापस जाएँ
Powered by Translations.com GlobalLink OneLink Software